Menu

पर्यवेक्षण विभाग को विभिन्न पर्यवेक्षकीय विवरणियाँ प्रस्तुत करने के लिए निर्धारित समय-सीमा में बढ़ोतरी करने के संबंध में
बाह्य परिपत्र  सं./112 /डॉस-20/2020-21              22 अप्रैल 2020
सं राबैं.डॉस पॉलिसी॰/157/जे -1/2020-21 
अध्यक्ष, सभी क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक 
प्रबंध निदेशक, सभी राज्य सहकारी बैंक 
प्रबंध निदेशक / मुख्य कार्यकारी अधिकारी , 
सभी जिला मध्यवर्ती सहकारी बैंक 
 
प्रिय महोदय / महोदया 
 
पर्यवेक्षण विभाग को विभिन्न पर्यवेक्षकीय विवरणियाँ प्रस्तुत करने के लिए निर्धारित समय-सीमा में बढ़ोतरी करने के संबंध में 
कोविड -19 के संक्रमण को फैलने से रोकने और इसे नियंत्रित करने के प्रयोजन से भारत सरकार और विभिन्न राज्यों सरकारों ने कई उपाय किए हैं। ऐसे में पर्यवेक्षित इकाइयों को विभिन्न प्रकार की विनियामक और पर्यवेक्षकीय विवरणियाँ पर्यवेक्षण विभाग (डॉस) को समय पर प्रस्तुत करने में कठिनाई होगी। अतः इन विवरणियों को पर्यवेक्षण विभाग (डॉस) को प्रस्तुत करने की समय-सीमा बढ़ा दी गई है,  जिसका विवरण अनुबंध में अंकित है। 
 
2. विवरणियाँ प्रस्तुत करने के लिए बढ़ी हुई समय-सीमा स्टाफ की उपस्थिति सामान्य होने अथवा 30 जून 2020 तक प्रस्तुत की जाने वाली विवरणियों की देय तिथि, इसमें से जो भी पहले हो, तक प्रभावी रहेगी। जो इकाइयां अपने भरसक प्रयास से इन विवरणियों को इस अवधि से पूर्व प्रस्तुत करने में सक्षम हों, वे ऐसा कर सकती हैं।
 
3. ‘जब घटित हो-तब रिपोर्ट की जाने वाली घटनाओं’ अर्थात् धोखाधड़ी प्रबंधन विवरणी (एफ़एमएस-1), साइबर सुरक्षा से जुड़ी घटनाओं और इस प्रकार की अन्य विवरणियों की प्रस्तुती के लिए उक्त बढ़ी हुई समय-सीमा लागू नहीं होगी।
 
4. इसके अतिरिक्त, पर्यवेक्षण विभाग के साथ सभी पत्राचार या अनुरोध कारपोरेट ईमेल के माध्यम से किया जाना चाहिए और इस प्रकार के पत्राचार /अनुरोध कागजात भेजकर नहीं किया जाए। यह व्यवस्था अगली समीक्षा तक जारी रहेगी। अनिवार्य रूप से हार्ड प्रति में भेजी जाने वाली विवरणियाँ सामान्य स्थिति की बहाली के बाद ही भिजवाई जाएँ।  
 
5. कृपया इस परिपत्र की प्राप्ति सूचना हमारे संबन्धित क्षेत्रीय कार्यालय को भिजवाएं। 
 
भवदीय  
(के॰एस॰रघुपति)
मुख्य महा प्रबंधक  
अनुलग्नक:- यथोक्त