Menu

ब्लॉक स्तर पर 80 वित्तीय साक्षरता केंद्रों (सीएफएल) की स्थापना हेतु प्रायोगिक परियोजना का विस्तार - निधि सहायता हेतु दिशानिर्देश
 
1.  उपर्युक्त विषय पर कृपया दिनांक 28 जून 2017 के हमारे परिपत्र सं.156/डीएफ़आईबीटी/ 2017 और उसके बाद जारी दिनांक 1 जुलाई 2019 के पत्र सं.1102-1110 तथा दिनांक 16 अप्रैल 2020 के पत्र सं.28/डीएफ़आईबीटी-23/ 2019-20 का अवलोकन करें जिनके माध्यम से उपर्युक्त परियोजना के लिए वित्तीय समावेशन निधि से सहायता हेतु अनुदेश जारी किए गए थे.
 
2. इस संबंध में, भारतीय रिजर्व बैंक ने '80 ब्लॉक सीएफएल परियोजना' के कार्यान्वयन की समय सीमा 30 नवंबर 2021 तक बढ़ा दी है. भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा इस निर्णय की सूचना 28 सितंबर 2020 की उनकी ई-मेल के माध्यम से सभी बैंकों को दी गई है. 
 
3. वित्तीय समावेशन निधि के 27वें सलाहकार बोर्ड  ने इस बढ़ाई हुई अवधि के लिए वित्तीय समावेशन निधि से रु.3.68 करोड़ की अतिरिक्त सहायता मंजूर की है जो उन्हीं निबंधन और शर्तें पर दी जाएगी जो योजना के प्रारंभिक 3 वर्ष हेतु लागू थीं. 
 
4. जैसा कि आप जानते हैं, प्रारंभिक '80 ब्लॉक सीएफएल परियोजना' सितंबर 2020 से फरवरी 2021 के बीच विभिन्न तिथियों पर समाप्त होनी थी. अब, चूँकि सीएफ़एल परियोजना की समय सीमा 30 नवंबर 2021 तक बढ़ा दी गई है, इसलिए बैंक 12 माह तक की विस्तारित अवधि के लिए अधिकतम रु.4.00 लाख, तथा 14 माह की विस्तारित अवधि के लिए अधिकतम रु.4.60 लाख का अतिरिक्त पूंजीगत व्यय (यथानुपाती आधार पर) मंजूर करने पर विचार कर सकते हैं. 
 
5. सभी बैंक कृपया नोट करें कि वित्तीय समावेशन निधि से पूंजीगत व्यय हेतु यह अतिरिक्त सहायता प्रतिपूर्ति आधार पर दी जाएगी.
 
6. बैंक प्रारंभिक 3 वर्ष के लिए पूंजीगत व्यय हेतु मंजूर की गई रु.12 लाख की राशि खत्म हो जाने के बाद ही अतिरिक्त अवधि के लिए अतिरिक्त राशि अनुरोध कर सकते हैं.
 
7. अनुरोध है कि कृपया अपने संबंधित कार्यालयों को सूचित करें कि वे तदनुसार अपने प्रतिपूर्ति के दावे हमारे क्षेत्रीय कार्यालयों को भेजें.