Menu

30.06.2021 तक विस्तारित अवधि के लिए फसल ऋण पर बैंकों को 2% ब्याज सहायता और किसानों को 3% शीघ्र चुकौती प्रोत्साहन प्रदान करने हेतु

 
1. कृपया अल्पावधि फसल ऋणों के लिए ब्याज सहायता योजना के हमारे निर्देशों का संदर्भ लें।
 
2. कोविड -19 महामारी की दूसरी लहर के कारण लॉकडाउन के मद्देनजर, कई राज्य सरकारों ने लोगों की आवाजाही पर प्रतिबंध लगा दिया है और किसानों को इस दौरान अपने बकाया अल्पकालिक फसली   ऋणों  के पुनर्भुगतान में कठिनाइयों का सामना करना पड़ सकता है।
 
4. यह सुनिश्चित करने के लिए कि किसानों को दंडात्मक ब्याज का भुगतान करने की स्थिति का सामना न करना पड़े और उन्हें 4% की रियायती ब्याज दर पर अल्पावधि फसल ऋण का लाभ मिलता रहे, जो की समय पर भुगतान करने पर हे मिलता है,
 इसलिए कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा (उनके दिनांक 18.05.2021 के कार्यालय ज्ञापन द्वारा)  तय किया गया है की 7% प्रति वर्ष की दर से बैंकों द्वारा दिये गए 3 लाख रुपये तक के लघु अवधि के फसली ऋण जो 01.03.2021 और 30.06.2021 के बीच चुकौती के लिए बकाया हो, उन पर बैंकों को 2% ब्याज सहायता और किसानों को  3% शीघ्र चुकौती प्रोत्साहन की उपलब्धता 30.06.2021 तक या वास्तविक भुगतान की तारीख तक, जो भी पहले हो, जारी रहेगी।
 
4. बैंकों को सूचित किया जाता है कि वे 1 मार्च 2021 से 30 जून 2021 के बीच बकाया ऋणों के लिए 30 जून 2021 तक अल्पकालिक फसल ऋणों के पुनर्भुगतान की विस्तारित अवधि के लिए किसानों को आईएस और पीआरआई लाभ प्रदान करना जारी रखें।