Menu

परियोजना प्रस्तावकों को उनकी इथनॉल डिस्टिलेशन क्षमता बढ़ाने के लिए या अनाज (चावल, गेहूं, जौ, मक्का और ज्वार), गन्ना, चुकंदर, आदि जैसे फ़ीड-स्टॉक से पहली पीढ़ी (1जी) के इथनॉल के उत्पादन के लिए डिस्टिलरियां स्थापित करने के लिए वित्तीय सहायता प्रदान क

खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण विभाग (डीएफपीडी), भारत सरकार द्वारा दिनांक 14 जनवरी 2021 के राजपत्र अधिसूचना सं.128 के माध्यम से इथनोल उत्पादन क्षमता के संवर्ध्दन और वृद्धि के लिए चीनी मिलों/ डिस्टिलरिस/ एंटेर्प्रेनोर को वित्तीय सहायता प्रदान करने के लिए उपरोक्त योजना को अधिसूचित किया गया है

उक्त अधिसूचना के अधिनस्त, नाबार्ड को डीएफपीडी के साथ संवाद करने और योजना के तहत ब्याज सहायता के प्रबंधन के लिए नोडल बैंक नियुक्त किया गया है। हम भारत सरकार के खाद्य और सार्वजनिक वितरण विभाग (डीएफपीडी) द्वारा विधिवत रूप से जांच एवं

डीएफएस, भारत सरकार द्वारा अनुमोदित योजना के संचालन दिशानिर्देशों को संलग्न कर रहे हैं।

आप से अनुरोध है कि योजना के सुचारु कार्यान्वयन को सुनिश्चित करने के लिए अपने सभी नियंत्रण कार्यालयों और शाखाओं के बीज उपरोक्त योजना के परिचालन दिशानिर्देशों को प्रसारित करने की व्यवस्था करें। कृपया पावती दें।