Menu
जलवायु परिवर्तन पर वैश्विक समारोह में नाबार्ड के अध्यक्ष का सम्बोधन
टोकियो | 06 June 2019 04:45 PM
नाबार्ड के अध्यक्ष डॉ. हर्ष कुमार भनवाला ने 06 जून 2019 को टोकियो में एशिया-प्रशांत ग्रामीण और कृषि ऋण एसोसिएशन (अप्राका) – जापान फ़िनांसियल कॉर्पोरेशन (जेएफ़सी) पॉलिसी फोरम और अप्राका के 71वें एक्सकॉम के उद्घाटन सत्र को संबोधित किया. जेएफ़सी की मेजबानी में आयोजित सत्र का विषय ‘जलवायु परिवर्तन के झटकों को सहन करने की व्यवस्था विकसित करने में वित्तीय संस्थाओं की भूमिका’ पर केन्द्रित था. अध्यक्ष ने अपने भाषण में वैश्विक स्तर पर जलवायु परिवर्तन के कारण पैदा होने वाले खतरों और उनके परिणामों पर चर्चा की. संधारणीय और जलवायु-अनुकूल विकास के महत्व पर प्रकाश डालते हुए उन्होंने कहा कि जलवायु परिवर्तन के परिणामों को देखते हुए पहले से ही ठोस कदम उठाने की जरूरत है. डॉ. भनवाला ने कहा, “जलवायु अनुकूल विकास में वित्तीय  संस्थाओं की बहुत अहम भूमिका होती है.  बदलती हुई जलवायु में कोई भी वित्तपोषण गतिविधि सकारात्मक या नकारात्मक रूप से प्रभावित होती है, इसलिए निवेशों पर विचार करते समय जलवायु की दृष्टि से विचार करने पर कारोबार में सफलता मिल सकती है.” श्री इमान्यूअल एफ़ पिनोल, सचिव, कृषि विभाग, फिलीपीन्स सरकार; श्री सेनरथ बंदारा, मुख्य कार्यकारी अधिकारी, बैंक ऑफ सिलोन, श्रीलंका और अध्यक्ष अप्राका और श्री सुयोशी अराई, महाप्रबंधक, जेएफ़सी ने भी सत्र को संबोधित किया. सत्र के अंत में डॉ. प्रसून कुमार दास, महासचिव, अप्राका ने धन्यवाद ज्ञापित किया.