Menu

हमारे बारे में

संगठन सेटअप


संगठन सेटअप

शैक्षिक योग्यता
 
डेयरी टेक्नोलॉजी में स्नातक की उपाधि प्राप्त है (राष्ट्रीय डेयरी अनुसंधान संस्थान, करनाल). आईआईएम - अहमदाबाद से मैनेजमेन्‍ट में स्‍नातकोत्‍तर हैं और उन्‍होंने फिलॉसॉफी में पीएचडी (रोहतक) की है.
 
व्यावसायिक अनुभव:
 
डॉ हर्ष कुमार भनवाला ने 18 दिसंबर 2013 को नाबार्ड के अध्यक्ष के रूप में कार्यभार संभाला. उन्हें इंडिया इन्फ्रास्ट्रक्चर फ़िनान्स कंपनी लिमिटेड (आईआईएफसीएल), आर्इएल एण्ड एफएस वॉटर लि., और दिल्ली राज्य सहकारी बैंक जैसी प्रतिष्ठित संस्थाओं में कार्य करने का अनुभव प्राप्त है.
 
डॉ. भनवाला इससे पहले इंडिया इन्फ्रास्ट्रक्चर फ़िनान्स कंपनी लिमिटेड (आईआईएफसीएल) के कार्यपालक निदेशक थे और उन्‍होंने लगभग छह महीने तक इसके अध्‍यक्ष-सह-प्रबंध निदेशक के रूप में कार्य किया है. वे आईआईएफसीएल में मुख्‍य महाप्रबंधक के रूप में कार्पोरेट आयोजना, मानव संसाधन विकास एवं ऋण संवर्धन पहलों का कार्य देख रहे थे. वे ऋण संवर्धन पहल के विकास के अग्रणी रहे हैं जो हमारे देश में अपमि तरह का पहला प्रयास है जिससे अधिक ऋण लागत वाले ऋणों के स्‍थान पर बुनियादी संरचना परियोजनाओं के लिए डेट कैपिटल मार्केट्स तक पहुंचने के साथ-साथ बैंकों को अपनी पूंजी अवमुक्‍त करना तथा बुनियादी संरचना क्षेत्र के वित्‍तपोषण में एक्‍सपोजर और दीर्घकालीन चुनौतियों का सामना करना सुगम हो सके.
 
डॉ. भनवाला ने आर्इएल एण्ड एफएस वॉटर लि. में वरिष्ठ उपाध्यक्ष के रूप में कार्य किया है जिसमें वे जल और अपशिष्ट जल से संबंधित विभिन्न परियोजनाओं का परियोजना विकास कार्य देखते थे. दिल्ली राज्य सहकारी बैंक के प्रबंध निदेशक के रूप में उन्होंने संस्था के कायापलट (2000 से 2005) में बहुत बड़ी भूमिका निभार्इ.
 
वित्तीय क्षेत्र के इस समृद्ध अनुभव के साथ डॉ भनवाला नाबार्ड के विभिन्न क्षेत्रों जैसे वित्तीय समावेशन, सूक्ष्म वित्त, सहकारी ऋण संस्थाओं, ग्रामीण आधारभूत संरचना परियोजना विकास और कृषि परियोजनाओं से संबंधित परियोजना मूल्यांकन में गहरी विशेषज्ञता लेकर आए.
 
मीडिया: