Menu

सार्वजनिक नोटिस

नाबार्ड के संज्ञान में यह आया है कि नाबार्ड के नाम से लोगों को एक नोटिस भेजा गया है जिसमें यह कहा गया है कि नाबार्ड एक निधि निर्गम फॉर्म के माध्यम से उनके बैंक खातों का ब्यौरा माँग रहा है और इसका प्रयोजन यह बताया गया है कि किसी संस्था से प्राप्त एक निर्दिष्ट राशि ई-मेल के प्राप्तकर्ता के बैंक खाते में निधि अंतरण के जरिये अंतरित की जाएगी. कृपया नाबार्ड जैसे दिखने वाले डोमेन से प्राप्त इस तरह के मेल का जवाब न दें जिसमें आपके बैंक खाते के विवरण और अन्य व्यक्तिगत ब्यौरे माँगे गए हों. 
 
नाबार्ड यह स्पष्ट करता है कि नाबार्ड ने ई-मेल से या किसी अन्य माध्यम से ऐसा कोई संदेश नहीं भेजा है. यह भी स्पष्ट किया जाता है कि नाबार्ड ई-मेल से या किसी अन्य माध्यम से ऐसा कोई संदेश नहीं भेजता जिसमें किसी भी प्रयोजन से बैंक खाते के विवरण माँगे जाते हों. नाबार्ड आम जनता से अपील करता है कि इस तरह की धोखाधड़ी वाले मेल के जवाब में कोई भुगतान न करें और न अपने बैंक खाते के विवरण दें. यह भी अधिसूचित किया जाता है कि इस संबंध में नाबार्ड किसी भी तरह से उत्तरदायी नहीं होगा. 
 
सार्वजनिक नोटिस :