Menu

हमारे बारे में

प्रधान कार्यालय विभाग


प्रधान कार्यालय विभाग

विभाग का चयन करें
लेखा विभाग
व्‍यवसाय पहल विभाग
केन्‍द्रीय सतर्कता कक्ष
कार्पोरेट संचार विभाग
कार्पोरेट आयोजना विभाग
आर्थिक विश्लेषण और अनुसंधान विभाग (डीईएआर)
वित्तीय समावेशन और बैंकिंग प्रौद्योगिकी विभाग
सूचना प्रौद्योगिकी विभाग
परिसर, सुरक्षा और अधिप्राप्ति विभाग
पुनर्वित्‍त विभाग
भंडारण एवं विपणन विभाग
सब्सिडियरीज़ और स्ट्रेटेजिक निवेश विभाग
पर्यवेक्षण विभाग
कृषि क्षेत्र विकास विभाग
कृषि क्षेत्र नीति विभाग
वित्‍त विभाग
निरीक्षण विभाग
संस्‍थागत विकास विभाग
विधि विभाग
सूक्ष्‍म ऋण नवप्रवर्तन विभाग
कृषीत्तर क्षेत्र विकास विभाग
राजभाषा प्रभाग
जोखिम प्रबंधन विभाग
सचिव विभाग
राज्‍य परियोजना विभाग
मानव संसाधन प्रबंध विभाग
1.  आरम्भ
 
नाबार्ड की स्‍थापना के बाद स्टाफ की भर्ती, पदस्‍थापना, कार्य-निष्पादन, प्रबंधन, पदोन्नति तथा सेवानिवृत्ति का कार्य संभालने के लिए जुलाई 1982 में मानव संसाधन प्रबंध विभाग बनाया गया.  
इन वर्षों में यह विभाग नाबार्ड का महत्‍वपूर्ण विभाग बन चुका है और कई महत्वपूर्ण कार्य कर रहा है जैसे सही लोगों की भर्ती करना, उपयुक्त रूप से उन्हें पदस्थापित करना, कारोबार में वृद्धि करने के लिए मानव संसाधन  का प्रबंध करना एवं अन्य संबंधित सेवाएं प्रदान करना.
 
2.  विभाग के प्रमुख कार्य
 
भर्ती एवं चयन
 
  • बैंक के महत्वपूर्ण कारोबार, विकास, पर्यवेक्षकीय एवं अन्य भूमिकाओं से संबंधित कार्यों की देखभाल करने के लिए लोगों का चयन तथा नियुक्ति
  • आरक्षण समेत विभिन्न सांविधिक अपेक्षाओं का पालन
पदस्‍थापना और स्थानांतरण
 
  • मानव संसाधनों के इष्टतम उपयोग में सहयोग 
  • अधिकतम उत्पादकता के लिए कैरियर में प्रगति तथा मानव संसाधन की भविष्‍यगत आवश्‍यकता को ध्‍यान में रखते हुए योजना तैयार करना
कार्यनिष्पादन प्रबंधन
 
  • संगठनात्मक उद्देश्य के परिप्रेक्ष्‍य में वैयक्तिक कर्मचारियों के कार्य निष्पादन एवं दक्षता, संभाव्यता एवं  क्षमता का वस्‍तुनिष्‍ठ आकलन करने के साधन के रूप में कार्यनिष्पादन मूल्यांकन समीक्षा (पीएआर) प्रस्तुत करना  उद्देश्य 
  • प्रणालीबद्ध तरीके से सभी सेवा अभिलेखों का रखरखाव करना
स्टाफ क्षतिपूर्ति और सुविधाएं
 
  • सुनिश्चित करना कि स्टाफ के लिए क्षतिपूर्ति और लाभ रेफरल संस्था के बराबर है.
  • उक्‍त की समय पर बिना विलंब के समीक्षा तथा कार्यान्वयन, ताकि स्टाफ को प्रेरित और संतुष्ट रखा जा सके.
  • स्टाफ से संबंधित योजनाओं और सुविधाओं का सक्षम प्रबंधन
मानव संसाधन संबंधी कार्य 
 
  • सकारात्मक कार्य संस्कृति के बारे में स्टाफ को जागरूक कर सौहार्दपूर्ण औद्योगिक संबंध कायम रखना
  • सेवानिवृत्त स्टाफ समेत स्टाफ के कल्याण के लिए नवोन्‍मेषी उपाय शुरू करना
प्रशिक्षण और विकास
 
  • मानव संसाधन विकास हेतु व्यापक कार्यनीति के भाग के रूप में प्रशिक्षण और विकास को प्रोत्‍साहित करना, जिसमें निम्‍नलिखित शामिल हैं- 
(क) सभी स्टाफ सदस्यों के ज्ञान, कौशल और क्षमता का उन्नयन और नवनियुक्‍त स्‍टाफ को सक्षम बनाना
(ख) कैरियर में प्रगति और परिवर्तन प्रबंधन पर उच्च प्रबंधन सहित पदानुक्रम के उच्च स्तरों पर उनमें उनकी भूमिका के संबंध में संवेदनशीलता का निर्माण 
(ग) कर्मचारियों को इस तरह सक्षम बनाना कि वे आगे बढ़ कर सक्रिय रूप से परिवर्तनों को अपना सकें 
 
3.  राष्ट्रीय स्तर पर विभाग की उपलब्धियां
 
नाबार्ड के पास उच्च क्षमता वाले प्रोफेशनल तथा सुप्रशिक्षित स्टाफ की टीम मौजूद है. 30 सितंबर 2016 की स्थिति के अनुसार बैंक की स्टाफ संख्या निम्नवत् है:
 
  • ग्रुप ए (अधिकारी) : 2,593 
  • ग्रुप बी (विकास सहायक तथा अन्य सहायक) : 674 
  • ग्रुप सी (संदेशवाहक, अनुरक्षण एवं अन्य) : 714 
4.  जारी परियोजनाएं तथा योजनाएं
 
2016 में बैंक ने ग्रेड 'ए' में 114 अधिकारियों तथा ग्रेड बी में 15 अधिकारियों को भर्ती करने की प्रक्रिया शुरू की है. 
 
महत्वपूर्ण लिंक/सूचनाएं
 

संपर्कः 
 
श्री पी सी चौधरी
मुख्य महाप्रबंधक
6वीं मंजिल, 'ए' विंग
सी-24, 'जी' ब्‍लॉक 
बांद्रा-कुर्ला काम्प्लेक्स, बांद्रा(पूर्व)
मुंबई-400 051
फोनः (91)022-26524748 
फैक्‍सः (91)022-26530092 
ई-मेलः hrmd@nabard.org