About Us

जोखिम प्रबंधन विभाग

नाबार्ड में निम्नलिखित के साथ-साथ सभी प्रकार के जोखिमों के प्रबंधन के लिए नाबार्ड में 02 जून 2014 को जोखिम प्रबंधन विभाग का गठन किया गया:

ऋण प्रदान करने वाले विभागों में ऋण जोखिम

  • ट्रेजरी और निवेश परिचलनों में बाज़ार जोखिम
  • प्रधान कार्यालय के सभी विभाग और सभी क्षेत्रीय कार्यालयों में परिचालन जोखिम
  • प्रधान कार्यालय के सभी विभाग और सभी क्षेत्रीय कार्यालयों में अनुपालन जोखिम
  • प्रधान कार्यालय के सभी विभाग और सभी क्षेत्रीय कार्यालयों में सूचना प्रौद्योगिकी - आईटी जोखिम

विभाग का नेतृत्व मुख्य महाप्रबंधक करते हैं जोकि बैंक के मुख्य जोखिम अधिकारी भी हैं.

प्रमुख कार्य

  • बैंक में सुदृढ़ जोखिम प्रबंध प्रणाली तैयार करना;
  • नाबार्ड के ‘उद्यम जोखिम प्रबंधन नीति’ और अन्य महत्वपूर्ण जोखिम प्रबंधन संबंधी नीतियाँ तैयार करना और इनमें संशोधन करना.
  • उचित नीति, प्रणालियों, मानक परिचालन प्रक्रियाओं, जोखिम मूल्यांकन साधनों / मॉडेल्स,
  • स्वीकार्य स्तर के भीतर बाज़ार जोखिम का प्रबंधन करना;
  • नाबार्ड में परिचालन जोखिम और अनुपालन जोखिम संबंधी कार्यों को लागू करना;
  • जोखिम-संबंधी मामलों में भारत सरकार, भारतीय रिज़र्व बैंक और रेटिंग एजेंसियों के साथ समन्वय करना;
  • उच्च प्रबंधन और निदेशक मण्डल की जोखिम प्रबंधन समिति को उद्यम स्तरीय जोखिम की स्थिति, लागू की गई जोखिम शमन प्रणाली आदि की जानकारी देना।;
  • बेसल III के दिशा-निर्देशों के अनुपालन के लिए नीति निर्धारण और तंत्र तैयार करना;

प्रमुख उपलब्धियाँ

  • व्यापक ‘उद्यम जोखिम प्रबंधन नीति’ लागू की गई;
  • एक जोखिम अनुप्रवर्तन प्रणाली के रूप में ईआरएमएस सॉफ्टवेयर के माध्यम से उद्यम जोखिम प्रबंधन तंत्र को लागू किया गया है;
  • बेसल III के दिशा-निर्देशों का अनुपालन सुनिश्चित करने के लिए आईसीएएपी नीति और भार जांच नीति – स्ट्रेस टेस्टिंग पॉलिसी को लागू किया गया;
  • बाज़ार जोखिम संबंधी मामलों से निपटने के लिए नियमित रूप से अस्ति देयता समिति – आलको की बैठकों का आयोजन किया गया;
  • विभिन्न ग्राहकों के लिए आंतरिक जोखिम जांच मॉडेल्स लागू किए गए हैं और आवधिक रूप से इनकी समीक्षा की जाती है;
  • परिचालनात्मक जोखिम घटनाओं को रिकार्ड करने के लिए सॉफ्टवेयर विकसित कर आरसीएसए तंत्र को लागू किया गया है.
  • अनर्जक आस्ति प्रबंधन संबंधी दिशा-निर्देशों को लागू करना, नाबार्ड द्वारा ग़ैर-सरकारी संगठनों। / अन्य संस्थाओं के विवर्जन (डिबार) करने के लिए ग्राहक विशिष्ट जोखिम मानदंडों और दिशा-निर्देश;
  • प्रमुख परिचालन जोखिमों और घटनाओं की पहचान तथा जोखिम शमन प्रणाली को लागू किया गया;
  • नाबार्ड की नीतियों की जोखिम जांच;
  • विस्तृत उद्यम व्यापक व्यापार निरंतरता प्रबंधन योजना को लागू किया गया;
  • अनुपालन जोखिम अनुप्रवर्तन प्रणाली का कार्यान्वयन किया गया;
  • बैंक में जोखिम जागरूकता निर्माण;
  • हितधारकों के साथ नियमित बातचीत कर नाबार्ड के स्टाफ़ का क्षमता निर्माण

संपर्क सूचना

श्रीमती सुपर्णा टंडन
मुख्य महाप्रबंधक
तीसरी मंज़िल, ‘सी’ विंग, 'जी' ब्लॉक बांद्रा – कुर्ला संकुल,
बांद्रा (पूर्व) मुंबई - 400 051
दूरभाष : (91) 022-68120020
ई-मेल: rmd@nabard.org

 

सूचना अधिकार अधिनियम – धारा 4(1) (बी)

नाबार्ड प्रधान कार्यालय